Breaking News

कोरोना महामारी के दौरान भारत के खाद्य सुरक्षा ‘कदमों’ को UN विश्‍व फूड प्रोग्राम ने भी सराहा : पीयूष गोयल

कोरोना महामारी को लेकर जून माह में राष्‍ट्र के नाम अपने संबोधन के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी ने देश के गरीब वर्ग को भी ध्‍यान में रखा था.

नई दिल्ली: केंद्रीय खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) ने कोरोना महामारी (COVID-19 pandemic) के दौरान खाद्य सुरक्षा प्रदान करने के लिए नरेंद्र मोदी के नेतृत्‍व वाली केंद्र सरकार की प्रशंसा की है. गोयल ने इस मसले पर एक ट्वीट किया है. अपने ट्वीट में उन्‍होंने लिखा, ‘कोविड-19 महामारी के दौरान खाद्य सुरक्षा (food security) सुनिश्चित करने के लिए नरेंद्र मोदी के नेतृत्‍व वाली सरकार की मिली पहचान…संयुक्‍त राष्‍ट्र के विश्‍व खाद्य कार्यक्रम का कहना है कि सभी को खाद्य सामग्री/भोजन उपलब्‍ध कराने के मामले में दुनिया को भारत से सीखना चाहिए.’ केंद्रीय मंत्री गोयल ने अपने ट्वीट के साथ एक खबर भी अटैच की है जिसमें भारत के कोरोना महामारी के दौरान खाद्य सुरक्षा कार्यक्रम के बारे में विस्‍तार से बताया गया है.

गौरतलब है कि कोरोना महामारी पर जून माह में राष्‍ट्र के नाम अपने संबोधन के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी ने देश के गरीब वर्ग को भी ध्‍यान में रखा था. अपने संबोधन के दौरान अहम घोषणा करते हुए पीएम ने प्रधानमंत्री गरीब कल्‍याण अन्‍न योजना को दीपावली तक आगे बढ़ाने की घोषणा की थी. पीएम ने कहा, ‘सरकार ने फैसला लिया है कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना को अब दीपावली तक आगे बढ़ाया जाएगा. महामारी के इस समय में, सरकार गरीब की हर जरूरत के साथ, उसका साथी बनकर खड़ी है यानी नवंबर तक 80 करोड़ से अधिक देशवासियों को, हर महीने तय मात्रा में मुफ्त अनाज उपलब्ध होगा.’